कैब पर निवेश करें, मोटा मुनाफा पायें के नाम पर लाखों की ठगी Invest in cab, cheat millions of people in the name of obtaining profits



                                  एसएपी कार्यालय पर शिकायत करने पहुंचे पीड़ित।  

साहिबाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  साहिबाबाद के एक बिल्डर पर आरोप है कि उसने किराए पर कैब चलाने की एक योजना मैं पैसा लगाकर लोगों को भारी मुनाफा देने का झांसा देकर लोगों से लाखों रुपए ठग लिए । अब न तो यह कंपनी अपनी शर्तों के अनुसार निवेशकों को किराया दे रही है ना पैसा वापस कर रही है। पैसा वापस मांगने पर निवेशकों को मिल रही है जान से मारने की धमकी। इस मामले में पीड़ितों की शिकायत पर मंगलवार को एसएसपी/डीआईजी गाजियाबाद ने धोखेबाजों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का दिया भरोसा।
        
गाजियाबाद के एसएसपी एवं डीआईजी उपेंन्द्र्र अग्रवाल को दिए प्रार्थना पत्र में परविंदर पुत्र किरण पाल निवासी 117 गली नंबर 5 पप्पू कॉलोनी आदि ने आरोप लगाया है कि सुनील वैद नाम के एक बिल्डर ने उन्हें मुनाफे का मोटा लालच देकर ठग लिया है और अब मुनाफा तो दिया नहीं पैसे वापस मागने पर उन्हें जान से मारने की धमकी दे रहा है। शिकायत पत्र के अनुसार वार्ड नंबर 10 गाजियाबाद के पार्षद यशपाल पहलवान के ऑफिस में सुनील वैद पुत्र रामनिवास निवासी 53 राधे श्याम पार्क एक्सटेंशन दो राजेंद्र नगर आता जाता था। वह बताता था कि वह एक बिल्डर है तथा इसके अलावा अनेक बड़े बड़े प्रोजेक्ट उसके चल रहे हैं। उसने बताया कि उसने एक बड़ी कंपनी जीआईजी कैब्स इंडिया लिमिटेड बनाई है जो कार व मोटरसाइकिल बड़ी-बड़ी कंपनियों को किराए पर देगी। कंपनी की पूरी योजना के बारे में सुनील वैद ने अपने पुत्र विपिन को बुलाकर लोगों को समझाया। स्कीम के अनुसार 55हजार रुपये जमा करने वाले व्यक्ति को कंपनी उसके नाम से एक नई बाइक खरीद कर अपनी कंपनी के द्वारा बड़ी बड़ी कंपनियों में लगाएगी तथा निवेश करने वाले व्यक्ति को बदले में 600रूपये रोजाना किराया मिलेगा किश्त उसकी कंपनी देगी। इसी तरह जो व्यक्ति ढाई लाख रुपए कंपनी में निवेश करेगा तो उसके नाम से मीडियम कार खरीदी जाएगी जिसके ड्राइवर का खर्चा व कार की किस्त कंपनी देगी। कंपनी में निवेश करने वाले व्यक्ति को मुनाफे में 3 हजार रूपये प्रतिदिन किराया मिलेगा। इसी तरह जो व्यक्ति रूपये 5लाख जमा कराएगा  उसके नाम से बड़ी कार कंपनी खरीदेगी और 5 हजार रूपये रोजाना निवेश करने वाले व्यक्ति को उसकी कंपनी देगी तथा ड्राइवर का खर्चा और कंपनी द्वारा खरीदी गई कार की किस्त कंपनी देगी। पीड़ित लोगों का कहना है कंपनी की ओपनिंग 24 अक्टूबर 2018 को हुई जिसमें वे लोग अपने पार्षद यशपाल पहलवान के साथ पहुंचे तथा उन्होंने कंपनी के बताए अनुसार ढाई लाख रुपए वार्ड 10 के पार्षद यशपाल पहलवान के सामने निवेश किए थे। पीड़ित लोगों का कहना है कि इस मामले में सुनील और विपिन ने उनके बैंक के कागजातों की फोटोग्राफ आधार कार्ड व 10-10 पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ भी जमा कराए हैं।  कंपनी के प्रबंधकों से जब उन्होंने पैसों की रसीद मांगी तो उन्होंने बताया कि आप लोग 10- 10 लोगों के ग्रुप बना लें इसके बाद  रसीद भी मिलेगी और मुनाफा भी मिलने लगेगा। 
         
परविंदर ने एसएसपी को बताया कि सुनील वेद और उसके बेटे विपिन वेद की बातों में आकर उसके कहने पर उसके साथी अकील अहमद, तेजवीर सिंह, अनीश खान, इमरान, नौशाद सैफी ,गुड्डू भाई आदि ने भी कंपनी में नियम के अनुसार लाखों रुपए का निवेश कर दिया, जो 17 लाख 50 हजार बनता है। लेकिन कंपनी ने वायदे के अनुसार उन्हें कोई किराया नहीं दिया । एक दिन अपना पैसा वापस मांगने वे कंपनी के मालिक सुनील वैद और विपिन वेद के वृंदावन गार्डन साहिबाबाद स्थित द्वारकामाई बिल्डर्स एंड प्रमोटर्स के कार्यालय गए तो उन्हें समझाया गया  कि सब्र करो  अभी प्रोसेस चल रहा है। लेकिन जानकारी करने पर पता चला के पिता पुत्र दोनों धोखेबाज हैं जिन्होंने अपने नौकर को कंपनी का डायरेक्टर बनाया हुआ है जिससे कभी कानूनी कार्रवाई हो तो नौकर ही जेल जाये। 
            
उन लोगों के समझ में आ गया कि उन्हें ठगा गया है तो एक दिन वह सुनील वेद  के  वृंदावन गार्डन स्थित द्वारकामाई बिल्डर्स एंड प्रमोटर्स पर पहुंचे  और अपना पैसा वापस करने के लिए दबाव बनाया तो उन्हें धमकाया गया और जान से मारने की धमकी दी। विनीत नाम के व्यक्ति ने अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर निकाल कर उनके सामने कर दी और कहा कि यहां से भाग जाओ नहीं तो गोली मार दूंगा। वे वहां से जान बचाकर भागे और अपनी  परेशानी को  पुलिस अधिकारियों को बताया तथा अब कानूनी कार्रवाई की मांग की है। 






Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment