शाेपियां मुठभेड़: टाइगर की मौत के साथ घाटी में बुरहान वानी गुट का सफाया Shapiya encounter: elimination of Burhan Vani faction in the valley along with Tiger's death



श्रीनगर ।  जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में शुक्रवार को घेराबंदी एवं तलाश अभियान के दौरान सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिद्दीन के शीर्ष कमांडर लतीफ टाइगर समेत तीन आतंकवादी मारे गये। लतीफ टाइगर हिजबुल मुजाहिद्दीन के बुरहान वानी समूह का अंतिम सदस्य था। इस तरह से घाटी में बुरहान वानी समूह का सफाया हो गया है। 

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने यूनीवार्ता को बताया कि राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों ने आतंकवादियों के छिपे होने की खुफिया सूचना के आधार पर इमाम साहिब शोपियां में तड़के एक संयुक्त तलाश अभियान चलाया।

प्रवक्ता ने बताया कि सुरक्षाबलों के जवान जब एक खास क्षेत्र की ओर बढ़ने लगे तभी वहां पहले से छिपे हुए आतंकवादियों ने उन पर गोलियां चलायीं जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गयी। मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गये जबकि एक जवान भी घायल हो गया। मुठभेड़ स्थल से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद किया गया है। 

किसी भी प्रकार की अफवाह को फैलने से रोकने के लिए शोपियां में मोबाइल इंटरनेट सेवा को रोक दिया गया है। मुठभेड़ के बाद प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई झड़प में कई लोग घायल हो गए। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के छठे चरण के मतदान में छह मई को शोपियां और पुलवामा में मतदान होगा। 

सूत्रों ने बताया कि मारे गये आतंकवादी की पहचान लतीफ टाइगर के रूप में हुई है जो हिजबुल मुजाहिद्दीन के बुरहान वानी समूह का अंतिम सदस्य था। इसके अलावा अन्य दो आतंकवादियों की पहचान तारीक मौलवी और शरीक अहमद के रूप में हुई है। तीनों आतंकवादी हिजबुल मुजाहिद्दीन के सदस्य थे।





Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment