मण्डलायुक्त ने लिया सम्भागीय परिवहन प्राधिकरण की बैठक Mandalak took the meeting of the Divisional Transport Authority



गाजियाबाद, ( सर्वोदय शांतिदूत ब्यूरो )  मण्डलायुक्त मेरठ मण्डल मेरठ ने कलेक्टेªट सभागार में सम्भागीय परिवहन प्राधिकरण की द्विमासिक बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में 04 दिसम्बर 1992 में प्रतिनिधानित शक्तियों के अन्तर्गत सचिव द्वारा स्वीकृत व निर्गत किये गये विभिन्न प्रकार के परमिटों के अनुमोदन पर विचार किया गया। परमिटों के नवीनीकरण के आवेदनों पर भी विचार विमर्श हुआ ।

बैठक में सम्भागीय परिवहन अधिकारी ने बताया कि जनपद गाजियाबाद के जो गांव असेवित है उनके मार्गो पर भी बस संचालन का प्रावधान रखा गया था। इस पर आयुक्त महोदय द्वारा निर्देशित किया गया था कि सर्वे कराने के उपरान्त ही बस संचालन की स्वीकृति दी जाये। सर्वे में निर्धारित मार्ग सही पाये गये। इस पर आज आयुक्त महोदय ने निर्देशित किया कि क्षमता के अनुरूप और लोड फैक्टर के अनुसार ही परमिट जारी किये जाये। आयुक्त महोदया ने सम्बन्धित को कडे निर्देश दिये कि प्रदूषण वाले पैरामीटर व एन0जी0टी0 के नियमों के अनुसार ही परमिट जारी किये जाये। 
बैठक में मोटर गाडी अधिनियम-1988 की धारा 70 के अन्तर्गत सम्भाग के अराष्ट्रीयकृत मार्गो पर स्थायी स्टेज कैरिज परमिट व मंजिली वाहन संचालन हेतु निर्धारित मार्ग खुर्जा-जेवर टप्पल पर प्राप्त स्थाई स्टेज कैरिज परमिट प्रार्थना पत्रों पर विचार विमर्श कर आयुक्त महोदय द्वारा स्वीकृति प्रदान की गयी। आयुक्त महोदय को सम्बन्धित अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद गाजियाबाद में 125 सी0एन0जी0 युक्त बसें है। बैठक में मोटर गाडी अधिनियम-1988 की धारा 82 (1) के अन्तर्गत  स्थायी यात्री गाडी परमिटों के हस्तान्तरण के प्रार्थना पत्रों पर भी विचार विमर्श किया गया। आयुक्त महोदय ने इस सन्दर्भ में निर्देशित किया कि वाहन स्वामी का चरित्र प्रमाण-पत्र छः माह तक का ही वांछित होगा। छः माह व्यतीत होने पर पुनः चरित्र प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करना होगा। जनपद गाजियाबाद के अन्तर्गत आने वाले मुरादनगर क्षेत्र को सी0एन0जी0 चालित तिपहिया वाहनों हेतु संचालन केन्द्र बनाये जाने की मांग की गयी। 

बैठक में जिलाधिकारी ने भी निर्देशित किया कि जनपद गाजियाबाद के अलग-अलग क्षेत्रों मोदीनगर, मुरादनगर व लोनी में अलग-अलग रंग की आटो रिक्शा संचालित की जाये और आटो रिक्शाए सी0एन0जी0 युक्त हो। जिससे प्रदूषण की समस्या से निजात मिले। मोदीनगर में काले रंग की लोनी में लाल रंग व गाजियाबाद में हरे रंग की आटो रिक्शाए संचालित की जाये। पूर्व में जो डीजल युक्त आटो रिक्शाए संचालित है वो 04 माह की निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत सी0एन0जी0 युक्त करा दी जाये।  
बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, उप सम्भागीय परिवहन अधिकारी, बुलन्दशहर, गाजियाबाद, आर0एम0 रोडवेज सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे। 



Share on Google Plus

0 comments:

Post a Comment